Very Short Moral Stories for Children in Hindi 2020 | करोड़पति Story

  • 3
  •  
  •  
  •  

 

Short Moral Stories for Childrens in Hindi

आप सब ने लोगों को अक्सर ये बातें कहते सुना होगा कि अपने अंदर के talent को पहचानो, अपने passion को पहचानो।

लेकिन असल में इसे follow बहुत कम लोग ही करते हैं क्यूँकि किसी को पता ही नही है कि अपने अंदर छुपे talent और skills को पहचानना कैसे है। क्यूँकि लोग हमेसा खुद को दूसरो से compare करने में लगे रहते हैं और उन्हीं के जैसा के बनने की कोशिश करते रहते हैं और इसीलिये दूसरों को copy करने के चक्कर में खुद को पहचान ही नहीं पाते।

आज हमारी कहानी एक ऐसे ही गरीब लड़के कि है जिसने लोगों कि बातों पर ध्यान न देकर, एक करोड़ों कि कंपनी खड़ी कर दी।

अगर आप सोचते हो कि आप किसी से कम हो और आपके पास कोई खास skill ये talent नहीं है, तो ये कहानी आपको बतायेगी कि जो आपके पास है वो इस दुनिया में किसी के पास नही है।

और ये रही उस गरीब लड़के की कहानी…

Moral Story for Children in Hindi – 1

Email id न होने की वजह से करोड़ों की कंपनी

moral stories for childrens in hindi

Moral Stories for Childrens in Hindi : एक गांव में एक लड़का रहता था जो बहुत गरीब था, वो इतना गरीब था कि अगर वो एक दिन मेहनत-मज़दूरी नहीं करता तो उसे भूखे पेट ही सोना पड़ता।

एक दिन उसने अखबार में देखा कि किसी कम्पनी में सिक्यूरिटी गार्ड (security guard) की पोस्ट के लिये जगह खाली है और उसने इस नौकरी के लिये apply कर दिया।

उसको इंटरव्यू (interview) के लिये बुलाया गया और सब उससे बहुत खु़श हुए और उसकी नौकरी पक्की करने से पहले एक उनमें से एक इंटरव्यूवर (interviewer) ने उससे पूछा कि तुम्हारी email id क्या है।

Hindi Kahani :  Motivational Success Stories in Hindi 2020 | Nothing Impossible

लड़के ने कहा सर मेरे पास email id नहीं है। इंटरव्यूवर (interviewer) बोला इस मॉडर्न जमाने में दुनिया कहां से कहां पहुँच गयी और तुम्हारे पास email id नहीं है, हम तुम्हें ये नौकरी नहीं दे सकते।

वो लड़का वहा से निराश हो गया और बाहर निकल आया, बाहर निकलकर उसने अपने जेब में हाथ डाला तो उसे पता चला कि उसके पास 100 रुपये पड़े है और वो सोचने लगा कि इस 100 रुपये का अब मैं क्या करूँ कहां खर्च करूँ।

सोचते-सोचते उसके दिमाग में एक idea आया और उसने उस 100 रुपये का बाज़ार से 2 किलो सेब खरीद लिया और घर-घर जाकर बेचने लगा, सेब बेचकर उस दिन उसे 50 रुपये का फायदा हुआ।

लड़के को ये काम अछा लगा और अब वो रोज बाजार से सेब खरीदकर घर-घर जाकर बेचने लगा।

कुछ दिन उसने खुदकी एक दुकान खरीद ली और सेब बेचने लगा, जैसे ही एक दुकान अच्छे से चल गयी तैसे उसने दूसरी दुकान खोल दी और ऐसे करते करते उसने एक कंपनी खड़ी कर दी जो हर जगह सेब सप्लाई करने का काम करती थी। और वो अब एक बड़ी कंपनी के साथ एक बड़ा अदमी बन गया।

एक दिन कुछ न्यूज वाले उसका इंटरव्यूव (interview) ले रहे थे और इंटरव्यूव के अंत में न्यूज वालो ने पुछा सर क्या आप अपनी email id हमें दे सकते हैं।

उसने कहा मेरी कोई email id नहीं है। एक न्यूज़ वाले ने पूछा सर आपकी इतनी बड़ी कम्पनी है, क्या आपको कभी email id कि जरूरत नहीं पड़ती, उसने जवाब दिया कि अगर मेरे पास email id होती तो आज ये इतनी बड़ी कंपनी नहीं होती।

सीख:

दोस्तों इस कहनी से हमें ये सीख मिलती है कि इस दुनिया में हर किसी कि अपनी एक अलग personality होती है, सब में कुछ न कुछ खास होता है। फर्क बस इतना सा है कि कुछ लोग अपनी skills और टैलेंट को पहचान लेते हैं और कुछ अपनी skills और talent को पहचानने के बजाय उनको कोपी करने लगते हैं।

Hindi Kahani :  Moral Stories in Hindi 2020 | क्या आप ऐसे सोच सकते हैं?

और जब उनके जैसा नहीं बन पाते तो खुदको और खुद्की क़िस्मत को कोसते हैं।

इसीलिये किसी को कॉपी करने की बजाय खुद को पहचानो कि तुम क्या कर सकते हो, तुम्हारी क्षमता (potential) किसमें है और जीवन में तरक्की करो।

Moral Story for Children in Hindi – 2

लकड़हारे की प्रमोशन

moral stories for childrens in hindi

Moral Stories for Childrens in Hindi : एक कंपनी में एक लकड़हारा कई सालों से काम करता था लेकिन उसकी अभी तक कभी भी प्रमोशन नहीं हुई थी।

कंपनी में एक नये लकड़हारे को काम पर रखा गया और उस नये लकड़हारे कि प्रमोशन उसके कंपनी में आने के बस कुछ दिन बाद ही हो गयी।

इससे उस पुराने लकड़हारे को बहुत दुख हुआ और उससे ये बात बर्दास्त नही हुई और उसने ये बात जाकर कंपनी के मालिक से कही।

कंपनी के मालिक ने उससे कहा कि उसकी प्रमोशन इसलिये हो गयी है क्यूँकि वो तुमसे ज्यादा पेड़ काटता है और तुम पहले भी उतना ही पेड़ काटते थे और अभी भी उतना ही काटते हो।

लकड़हारे ने कहा कि ठीक है अगर ऐसी बात है तो मैं भी आज से खूब मेहनत करूँगा और ज्यादा पेड़ काटूगा।

और वो वहा से चला गया और खूब मेहनत करने लगा लेकिन फिर भी वो उस नये लकड़हारे जितना पेड़ नहीं काट पाता था।

लकड़हारा फिर अपने मालिक के पास गया और उन्हें अपनी सारी परेशानी बतायी।

तब मालिक ने कहा कि तुम्हें ये बात जाकर उस नये लकड़हारे से पूछ्नी चाहिये कि वो इतने पेड़ कैसे काट लेता है क्यूँकि वो कुछ ऐसा जानता है जो मैं और तुम नहीं जानते।

और ये उस नये लकड़हारे के पास गया और बोला कि हम दोनों एक साथ बराबर समय तक काम करते हैं लेकिन तुम मुझसे ज्यादा पेड़ काटते हो और मैं नही कर पाता। ऐसा तुम क्या करते हो?

नये लकड़हारे ने कहा कि पेड़ काटते-काटते कुल्हाड़ी की धार खत्म हो जाती है और इसिलिये मैं एक पेड़ काटने के बाद, पहले कुल्हाड़ी की धार तेज करता हूँ और फिर दूसरा पेड़ काटता हूँ।

Hindi Kahani :  Moral Stories in Hindi for class 3 2020 | Most Inspiring Story

क्या तुम अपनी कुल्हाड़ी का धार तेज करते हो?

पुराने लकड़हारे को बात समझ आ गयी और उसके बस कुछ ही दिनों बाद उसकी भी प्रमोशन हो गयी।

सीख:

इस कहानी से हमें ये सीख मिलती है कि जब हमें ऐसा लगे कि हमें हमारी मेहनत के हिसाब से फल नही मिल रहा है तो हमे समझ जाना चाहिये कि कहीं पर कुछ गड़बड़ है। और थोदी देर रुक कर ये सोचना चाहिये कि गड़बड़ी कहां पर हो रही है जिससे उसका हल निकल सके।

आशा करता हूँ आपको हमारी ये Moral stories for childrens in Hindi पसंद आयी होगी। वैसे तो ये कहानी बच्चों के लिये थी लेकिन मुझे पक्का विस्वास है कि बड़े इन कहानियों से बहुत कुछ सीखेंगे।

ये भी पढ़ें:

आलास्य आती हो तो ये पढ़ो

जीवन में कुछ बड़ा करना चाहते हो तो ये पढ़ो

कभी हार मत मानना

किसी को जल्दी बाजी में judge मत करो

अपनी गलतियों से कैसे सीखें

दूसरो पर उंगली उठाने से पहले खुद को देखो

अगर आप stress या depression से गुजर रहे है तो ये जरूर पढ़ें

डर के आगे जीत है

 साधु महात्मा की सीख

राजा और मंत्री

गधे की होशियारी

बूढ़ा व्यक्ति और गांव वाले

Hindi Kahani : Motivational Stories in Hindi | आपकी जिंदगी बदलने के लिए काफी हैं

 Hindi Kahani : Moral Stories in Hindi | क्या आप ऐसे सोच सकते हैं?

 Hindi Kahani : तोता और शिकारी | हिंदी कहानी

 Hindi Kahani :अकबर बीरबल की कहानी । भगवान की खोज

 Hindi Kahani :कहानी एक millionaire की

Hindi Kahani : Sandeep Maheshwari Biography in Hindi

Hindi Kahani : Motivational success story in hindi for success

Hindi Kahani : Funny Hindi stories with moral

13 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *