logo

Panchatantra

नीला सियार (The Blue Jackal)

The Blue Jackal

किसी जंगल में चंदरका नाम का एक सियार रहता था। वह अक्सर खुद को शेरों, भालुओं, हाथियों और अन्य जानवरों से खतरे में पाता था। वह उनसे बचने के लिए भागता-फिरता और गांव की ओर चला जाया करता था जहां वह मुश्किल से बचते हुए भोजन की तलाश करता।

एक दिन, जब चंदरका एक गांव में घुसा और खाना खोज रहा था, अचानक उसे कुछ कुत्ते दिखाई दिए जो उसके पीछे भागने लगे। चंदरका ने भागना शुरू किया, उसका दिल जोर-जोर से धड़क रहा था। वह मदद के लिए भागा, लेकिन उसे कहीं पर भी शरण नहीं मिली, जब तक कि उसे कपड़ा रंगने वाले एक डाइंग पिट का सामना नहीं हो गया। अपने पीछे भागते कुत्तों से बचने के लिए चंदरका उस डाइंग पिट में कूद गया और जब वह बाहर आया, तो उसका सारा शरीर, उसके रोंए से लेकर उसकी पूंछ तक, नीले रंग से रंगा हुआ था।

कुत्तों ने जब उसे देखा, तो उन्होंने उसे पहचाना नहीं और भाग गए, सोच कर कि यह कोई अजीब प्राणी है। चंदरका, जो अब एकदम नीला था, जंगल में वापस चला गया जहां अन्य जानवरों ने भी उसे नहीं पहचाना और सोचा कि वह कोई देवता है जो उनके जंगल में आया है। वे उसे पूजने लगे, और उसे अपना राजा घोषित कर दिया।

चंदरका ने राजा बनने का लुत्फ उठाना शुरू किया। उसके पास सब कुछ था – भोजन, सुरक्षा, और सम्मान – जिसकी वह कामना करता था, लेकिन एक रात, उसे अपने पूर्व साथियों, अन्य सियारों की आवाजें सुनाई देने लगीं। उनके हौले रोने, करुणामयी गानों को सुनकर चंदरका ने भी रोना और गाना शुरू कर दिया, अपनी स्थिति को भूल कर।

ये भी पढ़े।   बगुला और केकड़ा (The Heron and the Crab)

उसके रोने की आवाज को सुनकर अन्य जानवरों को अहसास हुआ कि वह एक सियार है, न कि कोई देवता। उन्होंने उसे तुरंत सिंहासन से उतार दिया और उसके जीवन को खतरे में डाल दिया। चंदरका को पता चला कि वह अपनी असली प्रकृति से नहीं भाग सकता, और उसने महसूस किया कि झूठी पहचान के साथ जीना दूसरों के लिए खतरनाक भी हो सकता है और खुद के लिए भी।

इस कहानी का नैतिक यह है कि असली पहचान को छिपाकर कुछ समय के लिए तो लाभ मिल सकता है, लेकिन अंत में सत्य ही की जीत होती है, और झूठ पर बनी जिंदगी कभी भी खतरे में पड़ सकती है।

Share this Story :

पढ़ने लायक और भी मजेदार स्टोरी

Hindi Kahani
Panchatantra

मित्रभेद और मित्रलाभ (The Tale of Discord and Alliance)

किसी जंगल में एक बार हुआ कुछ अजूबा,करीब आए दो जानवर जो थे बहुत ही जुदा।एक था भोला भाला भेड़िया,
The Tortoise and the Geese
Panchatantra

कछुआ और हंस (The Tortoise and the Geese) पंचतंत्र से एक ज्ञानवर्धक कहानी

एक सुन्दर झील के किनारे रहता था एक कछुआ,साथ में उसके दो हंस भी थे, जो उसके ख़ास दोस्त बन