10 Hindi Short Stories With Moral Values for Kids 2020 | ऊर्जा से भरपूर प्रेरणादायक कहानियाँ

  • 3
  •  
  •  
  •  

Small Stories in Hindi With Moral Values| प्रेरणादायक कहानियाँ

Hindi Short Stories – जिंदगी में आगे बढ़ने के लिये हमें प्रेरणा की जरूरत होती है, अब वो प्रेरणा चाहे किसी व्यक्ति के निजी जीवन से मिले या फिर किसी कहानी से।

आपने ये बात तो बार-बार सुनी होगी कि हम अपने जीवन में वही करते है जो हम सीखते है अब वो सीख चाहे बुरी हो या अच्छी, इसलिये हमें हमेशा ये ध्यान रखनी चाहिये कि हम अपनी जिंदगी में हमेशा अच्छी चीजें ही सीखें।

आज मैं Hindi Kahani के इस प्लेटफॉर्म पर आप सब के लिये कुछ सीख देने वाली हिंदी कहानियाँ ( Hindi short stories with moral ) लेके आया हूँ और आशा करता हूँ कि दरेक कहानियाँ आपको कुछ ना कुछ सीख जरूर देगी।

तो चलिये सुरू करते है।

Hindi Short Story – 1 Best Friend Story (दोस्त की value )

hindi short stories

एक बार की बात है दो दोस्त (सोनू और मोनू) कहीं जा रहे थे, चलते – चलते रास्ते में उन दोनों में किसी बात को लेकर बहस होने लगी, और बहस इस हद तक पहुँच गयी कि सोनू को गुस्सा आ गया और गुस्से में उसने मोनू को जोर से एक थप्पड़ मार दिया | मोनू को बहुत बुरा लगा परन्तु उसने सोनू को कुछ नहीं कहा और रेट में लिख दिया कि आज मेरे best friend ने मुझे थप्पड़ मारा |

और फिर दोनों आगे चलने लगे, चलते-चलते वे दोनों एक तालाब के पास पहुंचे और दोनों उसमें नहाने लगे, इतने में मोनू तालाब में डूबने लगा, ये देखकर सोनू तैरकर मोनू के पास पहुंचा और उसे बचा लिया |

बाहर निकल कर मोनू ने एक पत्थर पर लिखा कि आज मेरे best friend ने मेरी जान बचायी |
ये देखकर सोनू ने मोनू से पूछा कि जब मैंने तुम्हे थप्पड़ मारा तब तुमने रेत में लिखा और जब तुम्हे डूबने से बचाया तब तुम पत्थर पर लिख रहे हो, ऐसा क्यों ?
मोनू ने उत्तर देते हुए बहुत अच्छी बात कही – जब हमें कोई दुःख पहुचाये तो हमें रेत पर लिखनी चाहिए जिसको माफ़ी-रूपी हवा आये और उसे वहां से मिटा जाए लेकिन जब कोई हमारी मदद करे या हमें ख़ुशी दे तो उसे हमें पत्थर पर लिखनी चाहिए जिसे किसी भी प्रकार की हवा उसे न मिटा पाये |
ये बात सुनकर सोनू भावुक हो गया और माफ़ी मांगते हुए मोनू को जोर की झप्पी दे डाली |

इस कहानी से हमें ये सीख मिलती कि चीजों की value न करें चलेगा लेकिन लोगों की value करना बहुत जरुरी है क्योंकि बहुत काम लोग होते है जब आपके सुख-दुःख दोनों में खड़े रहते हैं |

Very Short Hindi Story – 2 बूढ़े व्यक्ति से गाँव वाले क्यों इतना परेशान थे

Small New Hindi Story – एक गांव में एक बूढ़ा इंसान रहता था जिसको गांव का कोई भी इंसान पसंद नहीं करता था।

और इसका कारण था खुद उस बूढ़े इंसान की आदतें जैसे बात-बात गुस्सा करना, हमेसा सबकी शिकायत करना, किसी से ठीक से बात ना करना आदि।

उसकी आदतें इतनी खराब थी कि अगर उसके पास से कोई गुजर जाये तो बिन बात के 2 गलियाँ दे देता था।

गांव वाले भगवान से बस यही दुआ करते थे कि उस बूढ़े इंसान से कभी मुलाकात न हो।

लेकिन जब वो बूढ़ा 80 साल का हो गया, तो कुछ अद्भुत हुआ।

गांव में बात फैलने लगी कि वो बूढ़ा अब हमेशा ख़ुश रहता है, कभी किसी पर गुस्सा नहीं करता, बहुत अछा इंसान बन गया है।

ये सुनकर गांव वालो को विस्वास नहीं हो रहा था कि बूढ़ा सुधर गया है।

एक दिन सारे गांव वाले उस बूढ़े के घर पर इकट्ठा हुए और उस बूढ़े इंसान से पूछा…

तुम्हें ये क्या हो गया है, तुम्हारे अंदर ये बदलाव कैसे?

बूढ़े ने जवाब दिया – “कुछ खास नहीं, मैं 80 साल तक खु़शी ढूँढता रहा जो कि केवल समय बर्बाद करना था इसलिये अब मैंने खुशियाँ ढूँढना बंद कर दिया और जिंदगी का आनन्द उठा रहा हूँ इसीलिये मैं खुश हूँ ”।

Hindi Kahani :  Moral Stories in Hindi for Class 8, 9 2020 | Short Story

सीख:

हम हमेशा अपनी खु़शी बाहर की चीजों में ढूँढते हैं जो कि हमारे अंदर ही छुपी हुई है। तो ख़ुशियाँ ढ़ूँढो मत बस इस खू़बसूरत जिंदगी का आनन्द लो।

तो ये थीं कुछ कहानियाँ, आशा करता हूँ आपको पसंद आयीं होगी, अपने सुझाव नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर दें।

Hindi Short Story – 3 गधा बना शेर, लोगों ने किया ढेर

hindi short story

एक गाँव में एक धोबी रहता था जिसने एक गधा पाल रखा था, गधे को ज्यादा कुछ खाने पीने को नहीं मिलता था इसलिए वो बहुत कमजोर हो गया था, इतना कमजोर की चलने-फिरने में भी उसे तकलीफ होती थी | 

गधे की ये हालत देखकर धोबी को भी चिंता हो रही थी और वो सोचने लगा कि इस समस्या का समाधान कैसे निकाला जाय | 

एक दिन वो किसी काम बस एक जंगल में गया हुआ था और वहां उसे एक मरे हुए शेर का मृतक शरीर दिखाई दिया, ये देखकर धोबी के दिमाग में एक उपाय आया | उसने सोचा की अगर इस शेर का खाल उतारकर मैं गधे को पहनाकर लोगों के खेतों में चरने के लिए छोड़ दू तो कोई गधे के पास भी नहीं आएगा और गधा खा पीकर धीरे-धीरे तंदरुस्त हो जायेगा | 

और धोबी ने ऐसा ही किया उसने उस गधे को खाल पहनाकर लोगो के खेतो में छोड़ दिया | 

एक दिन कि बात है की खेत में वो गधा चर ही रहा था कि इतने में उसे एक गधी के चिल्लाने की आवाज सुनाई दी और उसकी आवाज सुनकर गधा रह नहीं पाया और वो भी जोर जोर से चिल्लाने लगा |  फिर क्या, गाँव वालो को गधे की असलियत का पता चल गया और उन्होंने गधे को इतना पीटा, इतना पीटा कि वो गधा भी उस मरे हुए शेर के पास पहुंच गया| 

इसलिए कहा जाता है कि कभी भी किसी समस्या का समाधान ढूढ़ने के लिए झूठ या फरेब का सहारा नहीं लेना चाहिए | 

Hindi Short Story – 4 शेर की हाथी सवारी

hindi short story

एक दिन जंगल का राजा शेर जंगल से निकल बाहर की दुनिया घूमने के लिए गया, घूमते घूमते वो एक राज्य में जा पहुँचा जहाँ पर उसने देखा कि एक आदमी जो कि वहां का राजा था हाथी पर सवार होकर घूम रहा था| 

ये देखकर शेर को भी हाथी पर बैठने का मन किया, वो वापस जंगल गया और अपने चेलों से कहा मेरे लिए हाथी के ऊपर आसन लगाया जाय, आज से मैं हाथी के ऊपर बैठकर सैर लगाया करुँगा | 

शेर के लिए हाथी के ऊपर आसन लगाया गया, और शेर एक छलांग लगाकर हाथी के ऊपर जाकर सवार हो गया | हाथी जैसे ही दो कदम आगे बढ़ा शेर नीचे गिरा और उसके हाथ पैर टूट गए और वो लंगड़ा हो गया |   

इसलिए कहा जाता है कभी भी किसी की नक़ल नहीं करनी चाहिए नहीं तो शेर की तरह तुम भी नीचे गिरोगे और तुम्हारे भी हाथ पैर टूट जायेंगे | अपने skills और talent को पहचानो और दूसरो को कॉपी करने के बजाय उसपर काम करो | 

Hindi Short Story – 5 डरे नहीं तो सफलता जरूर मिलेगी

hindi short stories with moral

Hindi Short Stories – दोस्तों ये कहानी एक सियार की है जो कभी जवान और फुर्तीला हुआ करता था लेकिन कहते हैं न कि समय किसी क़े लिये बैठा नहीं रहता, वो हमेसा चलता रहता है।

Top Motivational Books to Read in 2019

कैसे $1 की टी-शर्ट बेंची $2000 में?

2 Zero to Billion Dollar Company 

और अब वो सियार बूढ़ा हो चुका था उसमें इतनी भी ताकत नहीं थी कि वो शिकार करके अपने पेट की भूख मिटा सके, कभी-कभी तो उसे भूखा ही सोना पड़ता था।

सियार ने कई दिनों से कुछ खाया नहीं था और भूखे पेट इधर-उधर भटक रहा था। एक दिन सियार कहीं जा रहा और उसे पता चला कि इस रास्ते पर एक कुत्ते का मृत शरीर पड़ा हुआ है और उसने अपने पेट की भूख मिटाने के लिये उस रास्ते से जाने का सोचा।

सियार जा ही रहा था कि उसे रास्ते में उसी तरफ से एक डरावनी सी आवाज आती हुई सुनायी दी, सियार डर गया और उसने अपना रास्ता बदल दिया लेकिन फिर उसने सोचा कि अगर इस रास्ते से मैं गया तो भूख की वजह से मेरे प्राण जाने ही वाले हैं तो क्यों न इसी रास्ते से चलकर अपनी भूख मिटाई जाये।

और सियार उसी रास्ते पर चल पड़ा जिस रास्ते पर कुत्ते का मृत शरीर पड़ा हुआ था, वहाँ पहुँचकर उसने देखा कि पेड़ की 2 डालियाँ आपस में टकरा रही थी और जिससे वो डरावनी आवाज आ रही थी।

Hindi Kahani :  Moral Stories in Hindi for Class 7 | Short Story 2020

इसे देखकर सियार अपने ऊपर जोर-जोर से हँसने लगा कि मैं फाल्तू में डर रहा था, अच्छा हुआ मैने अपना रास्ता नहीं बदला।

और उसने कुत्ते के मृत शरीर से अपनी पेट की भूख मिटाई।

सीख:

जब हम अपने जीवन में अपने लक्ष्य की तरफ आगे बढ़ रहे होते हैं तो हमारे रास्ते बहुत से ऐसे डरावने आवाज आते जिससे कुछ लोग डर कर वही से वापस आ जाते हैं और कुछ ज़िन्दगी दाँव पर रखकर आगे बढ़ जाते हैं। और जो आगे बढ़ जाते हैं वो इतिहास रचते हैं और दुनियाँ उनको युगों-युगों तक याद रखती है।

Hindi Short Story – 6 अपनी समस्याओं को लेकर जो रोते रहते हैं

Hindi Short Stories – एक गांव मे एक साधु महात्मा आये हुए थे जो लोगों के हर तरह के समस्या का समाधान बताते थे।

कुछ गांव वाले साधु महात्मा के पास एक ही समस्या लेकर बार बार जाते और साधु महात्मा से समधान माँगते थे।

साधु महात्मा ने एक दिन उन सबको एक कहानी सुनायी और सब खूब हँसे।

महात्मा ने उसी कहानी को दोबारा सुनायी, कुछ लोग फिर हँसे। महात्मा ने वही कहानी तीसरी बार फिर सुनायी लेकिन इस बार कोई नहीं हँसा।

साधु महात्मा मुस्कुराये और बोले – “अगर आप एक ही कहानी पर बार बार नहीं हँस सकते तो एक ही एक ही समस्या को लेकर हमेशा क्यों रोते रहते हो”।

सीख:

Hindi Short Stories – Problem को सोचकर उसकी चिंता करना केवल आपकी energy और time बर्बाद होगा, problem solve नहीं होगी। problem को solve करने के लिये आपको actions लेने पड़ेगे।

Very Short Hindi Moral Stories – 7 राजा के सामने जाने की हिम्मत नहीं है

hindi short stories with moral

New Small Moral story in Hindi – ये कहानी है एक राजा की, जो एक दिन शिकार पर गया हुआ था, रास्ता बहुत खराब था, रास्ते में बहुत सारे कंकड़ पत्थर थे जिससे राजा को बहुत तकलीफ हुई।

राजा शिकार से लौटकर अपने सभी मंत्रियों को बुलाया और उन्हें हुक्म दिया कि हमारे राज्य में जितने भी रास्ते हैं उन सभी रास्तों को चमड़े का रास्ता बना दिया जाये।

सारे मंत्री राजा के इस आदेश को सुनकर चौंक गये क्योँकि ये काम बहुत कठिन था और इसमें बहुत सारा पैसा खर्च होने वाला था। लेकिन राजा के सामने किसी की बोलने की हिम्मत नहीं हुई इसलिये सब ने हाँ कर दिया।

और सारे मंत्री वहा से चले गये।

सारे मंत्री रात भर सोये नहीं और इसी बात पर चर्चा करते रहे लेकिन राजा से बात करने कि हिम्मत किसी की नहीं हुई।

लेकिन एक मंत्री हिम्मत करके सुबह राजा के पास गया और काँपते हुए राजा से कहा “मेरे पास एक ऐसा सुझाव है जिससे समस्या का हल भी निकल आयेगा और ज्यादा पैसे भी नहीं खर्च होंगे”।

राजा को मंत्री का ये बात सुनकर बहुत बड़ा झटका लगा क्योँकि इससे पहले राजा को किसी ने भी सुझाव देने की हिम्मत नहीं की थी।

फिर भी राजा ने मंत्री को अपना सुझाव रखने की अनुमति दे दी, और कहा कि बताओ कि क्या सुझाव है।

मंत्री ने कहा – “महराज अगर आप चमड़े की सड़क बनवाने के जगह चमड़े का चप्पल बनवा ले तो बेहतर होगा”।

राजा को मंत्री का सुझाव काफी पसंद आया और उन्हें झटका भी लगा कि ये विचार मुझे पहले क्यों नहीं आया।

राजा ने मंत्री के सुझाव को स्वीकार करके चमड़े की सड़क बनवाने की जगह चमड़े का चप्पल बनवाने का हुक्म दिया और मंत्री की खूब प्रसंशा करते हुए उन्हें सोने-चाँदी का आभूषण देकर विदा कर दिया।

सीख:

Hindi Short Story – कभी खुद को ऐसा मत बनाओ की लोग आप से कुछ कहने से डरें।

Hindi short story with moral – 8 गधे की होशियारी, गधे को भारी

hindi short stories with moral

Hindi Moral Story – एक नमक बेंचने वाला रोज अपने घर से नमक एक गधे पर लादकर शहर में बेंचने जाया करता था।

एक दिन की बात है, नमक विक्रेता रोज की तरह गधे पर नमक लाद्कर शहर जा रहा था कि रास्ते में एक गड्ढा आया जिसमें पानी भरा था और गधा उसमें गिर गया।

और जब गधा पानी से बाहर आया तो उसे नमक का वजन बहुत कम लग रहा था क्यूँकि ज्यादातर नमक पानी में घुल गया था जिससे गधे को बहुत खुशी हुई।

नमक विक्रेता अगले दिन फिर गधे पर नमक लाद्कर बेंचने के लिये निकला और उसी गड्ढे के पास फिर पहुँचा और गधा इस बार जानबूझ कर गड्ढे में गिर गया। वजन फिर कम हो गया और गधा फिर खुश हो गया।

Hindi Kahani :  तोता और शिकारी | हिंदी कहानी

नमक विक्रेता ने देखा कि गधा जानबूझ कर वजन कम करने के लिये रोज गड्ढे में कूद जाता है। और नमक का नुक्शान कर देता है।

गधे को सबक सिखाने के लिये उसने एक दिन नमक की जगह कपड़े लाद दिये गधे के ऊपर और गधा रोज की तरह उस दिन भी जाकर गड्ढे में कूद गया। कपड़ा भीग गया और उसका वजन कम होने के बजाय और ज्यादा हो गया। और वो भीगा हुआ कपड़ा विक्रेता गधे पर लाद्कर शहर लेकर गया और फिर शहर से घर, जिससे गधे की हालत खराब हो गयी और उसने कसम खा ली कि अब दोबारा कभी ऐसा नहीं करूँगा।

सीख:

हमेशा भाग्य (luck) काम नहीं आता, तो बुद्धि से काम लिया करो।

Hindi Short Story with moral – 9 किसी के बिना किसी की गाड़ी रूकती नहीं

hindi short story with moral

Hindi short story with moral: ये कहानी है एक मुर्गे की जो एक ऐसे परिवार के बीच रहता था जिनके घर में शैतानीं हरकत करने वाले कुछ बच्चे रहते थे।

मुर्गे का उस घर में एक ही काम होता था, और वो था सुबह में आवाज देकर सबको जगा देना।

घर के जो बच्चे थे वो हमेसा मुर्गे को बहुत तंग करते रहते थे, जिससे मुर्गा हमेसा बहुत परेशान सा रहता था, बच्चों कि ये हरकत मुर्गे को थोड़ी सी भी पसंद नहीं आती थी।

एक दिन मुर्गे ने उन सबको सबक सिखाने के एक लिये एक प्लान बनाया और सोचा कि अगर मैं कल सुबह बोलूँगा ही नहीं तो सब सोते ही रह जायेगे और फिर सबको मेरी अहमियत समझ में आयेगी।

अगले दिन मुर्गा अपने प्लान के हिसाब से सुबह नहीं बोला, लेकिन उसने देखा कि बिना उसके बोले ही सब लोग उठ गये और नहा धोकर काम पर जा रहे हैं।

और इस बात से मुर्गे को समझ में आ गयी कि किसी का काम किसी के बिना रुका नहीं रहता।

Hindi Short Story 10 – Blind Girl अंधी लड़की

hindi short stories

ये कहानी है एक लड़की की जो देख नहीं सकती थी “अंधी थी” और इस बात को लेकर वो बहुत परेशान रहती थी, खुद से बहुत घृणा करती, कभी किसी से बात नहीं करती बल्कि अकेले किसी कोने में पड़ी रहती थी |
वो अगर किसी से प्यार करती थी या उसके साथ खुश रहती थी तो वो था उसका बॉयफ्रेंड जिसको वो सबसे ज्यादा प्यार करती थी, जब भी वो दोनों साथ होते, बहुत खुश रहते थे, लेकिन लड़की की एक जिद थी कि जब तक उसकी आँखें वापस नहीं आ जाती तब तक वो उस लड़के से शादी नहीं करेगी |
अगले दिन किसी ने अपने दोनों आँखे उस लड़की के लिए दान कर दी, और ऑपरेशन के बाद लड़की अच्छे से देखने लगी और अब वो सब कुछ देख सकती थी |
जब उसकी आँखें वापस आ गयी तो उसे पता चला कि उसका बॉयफ्रेंड भी अँधा था तब उसने उस लड़के से शादी करने से इंकार कर दिया |
लड़का मायूस होकर वहां से चला गया और उसके लिए एक चिट्ठी छोड़ गया जिसमे लिखा था – Dear मेरी आँखों का और अपना ख्याल रखना, अब मैं कभी भी तुम्हारी जिंदगी में लौट कर वापस नहीं आऊंगा |
ये जानकार कि उसकी आँखें उस लड़के ने दी थी वो बहुत दुखी हुए और उसका पछतावा ख़तम नहीं हुआ |
इस कहानी से हमें ये सीख मिलती है की परिस्थितियों के साथ-साथ हमारा मन भी बदल जाता है जो चीजों को वैसे नहीं देख पता जैसा की पहले | इसलिए इस कहानी से एक चीज तो आप जरूर लेकर जाएँ, कि आप चाहे कितनी भी ऊंचाई पर क्यों न पहुँच जाए लेकिन ये कभी न भूले कि आप कौन है, कौन थे, किस-किस ने आपके success के लिए अपनी कुर्बानी दी है |

Moral of the Story:

ये भी पढ़ें:

9 Hindi Short Stories With Moral Values for Kids | ऊर्जा से भरपूर प्रेरणादायक कहानियाँ

13 Short Motivational Stories in Hindi with Moral | अंदर से हिला देने वाली कहानियाँ

Motivational Quotes in Hindi for Success in Life | आपके अंदर सफलता की आग लगा देंगी

Short Moral Story in Hindi for Class 10 | Moral Story

Moral Stories in Hindi for Class 8, 9 | Short Story

Hindi Story for Class 1, 2 with Moral | Moral Stories

Moral Stories in Hindi for Class 7 | Short Story

Inspirational Life Story in Hindi Language for Entrepreneurs

Life Changing True Motivational with Message | आपकी सोच बदल देंगी

Story in Hindi for Class 5 | Horror Moral Story

Very Short Moral Stories for Children in Hindi | करोड़पति Story

Short Stories with Moral Values in Hindi | प्रेरणादायक कहानियाँ

Moral Stories in Hindi for class 3 | Most Inspiring Story

Motivational Success Stories in Hindi | Nothing Impossible

42 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *